भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के क्रान्तिकारी एवं ‘काकोरी कांड’ के नायक शहीद अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ की जयंती पर शत् शत् नमन
भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के क्रान्तिकारी एवं ‘काकोरी कांड’ के नायक शहीद अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ की जयंती पर शत् शत् नमन

भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के क्रान्तिकारी एवं ‘काकोरी कांड’ के नायक शहीद अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ की जयंती पर शत् शत् नमन

अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ (22 अक्टूबर 1900 – 19 दिसम्बर 1927) भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के स्वतंत्रता सेनानी थे। अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ का जन्म ब्रितानी भारत के शाहजहाँपुर में शफ़िक़ुल्लाह खान और मज़रुनिस्सा के घर हुआ। वो एक मुस्लिम पठान परिवार के खैबर जनजाति में हुआ था। वो छः भाई बहनों में अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ सबसे छोटे थे। वर्ष 1920 में महात्मा गांधी ने भारत में ब्रितानी शासन के विरुद्ध असहयोग आन्दोलन आरम्भ किया। लेकिन वर्ष 1922 में चौरी चौरा कांड के बाद महात्मा गांधी ने आन्दोलन वापस ले लिया। इस स्थिति में अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ सहित विभिन्न युवा लोग खिन्न हुये। इसके बाद अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ ने समान विचारों वाले स्वतंत्रता सेनानियों से मिलकर नया संगठन बनाने का निर्णय लिया और वर्ष 1924 में हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन का गठन किया।

मुजाहिद-ए-आज़ादी

अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ और उसके साथियों के कार्य को हिन्दी फ़िल्म रंग दे बसंती (2006) में फ़िल्माया गया है जिसमें खान का अभिनय कुणाल कपूर ने किया। स्टार भारत की टेलीविजन शृंखला चन्द्रशेखर में चेतन्य अदीब ने खान का अभिनय किया है।वर्ष 2014 में डीडी उर्दू पर भारतीय टेलीविजन शृंखला मुजाहिद-ए-आज़ादी – अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ प्रसारित की गयी जिसमें गौरव नंदा ने अभिनय किया।

 

About Sall Yadav

Check Also

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव जम्मू-कश्मीर …

करतारपुर कॉरिडोर

74 साल बाद करतारपुर कॉरिडोर के जरिए मिले दो भाई, बंटवारे ने किया था अलग

1947 में जब भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ तो मोहम्मद सिद्दीक नवजात थे। उनका …

Leave a Reply

Your email address will not be published.