Social Media पर फैलाई थी हिंसा की अफवाह
Social Media पर फैलाई थी हिंसा की अफवाह

Social Media पर फैलाई थी हिंसा की अफवाह – पुलिस ने 24 को दबोचा

नई दिल्ली : सीएए समर्थकों (CAA Supportesr) और विरोधियों (CAA Protestors) के बीच हुई हिंसक झडप के बाद दिल्ली (Delhi) को छावनी में तब्दील कर दिया गया और जगह-जगह हालात सामान्य होते नज़र आने लगे, लेकिन रविवार देर शाम दिल्ली के कई इलाकों में उस समय एक बार फिर अफरा-तफरी मच गई, जब सोशल मीडिया (Social Media) पर दंगे (Communal Riots) की खबर फैलनी लगी। हालाँकि पुलिस (Delhi Police) ने बिना देरी किये पुरे मामले की छानबीन शुरू कर दी, जिसके बाद ये खबर अफवाह निकली। पुलिस ने लोगों से शांति की अपील की, जिसके बाद सब समान्य हुआ। वहीं अब अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया।

Social Media पर अफवाह फैलाने वालों पर Delhi Police ने कसा शिकंजा

आज दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर (Delhi Police Commissioner) एस एन श्रीवास्तव (S. N. Srivastava) ने प्रेस कांफ्रेंस (Press Conference) कर कहा कि दिल्ली में हिंसा (Delhi Violence) की अफवाह (Violence Rumour) फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। पुलिस कमिश्नर के मुताबिक अब तक 24 ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनपर अफवाह फैलाने का आरोप है। पुलिस कमिश्नर के मुताबिक दिल्ली में अब कही भी अशांति नहीं है और हालात सामान्य हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि हिंसा के आरोपियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जायेगा और एक-एक को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

Delhi Violence की कैसे हुई थी शुरुआत ?

बता दें कि दिल्ली में बीते 24 फ़रवरी को उस समय बवाल बढ़ गया था, जब जाफराबाद (Jaffrabad) में CAA के विरोध में सड़क पर उतरी महिलाओं के विरोध में CAA समर्थक मौजपुर (Maujpur) में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (BJP Leader Kapil Mishra) की अगुवाई में रोड पर धरने (Seat in Protesr) पर बैठ गए थे। इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर पत्थरबाज़ी (Delhi Stone Pelting) देखने को मिली। इसके बाद इस बवाल ने उग्र रूप धारण कर लिया और 25 फ़रवरी को दो पक्षों में जबरदस्त पत्थरबाज़ी और आगज़नी देखने को मिली थी।

45 लोगों की मौत – नाले से अभी भी निकल रही है लाशें

इस हिंसा में सरकारों संपत्ति को जमकर नुकसान पहुंचाया गया और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया। हालाँकि 26 फ़रवरी को सरकार और प्रशासन ने मामले का संज्ञान लिया और दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों को छावनी में तब्दील कर दिया गया। हालात पर काबू पाने में पुलिस को लंबा वक्त लगा, लिहाज़ा कई लोग इस हिंसा में मारे भी गए। आंकड़ों के मुताबिक इस हिंसा में अब तक 45 लोगों की मौत हुई है, जबकि नालों से लाशों के निकलने का सिलसिला जारी है। बहरहाल हिंसा की आग में झूलसने के बाद एक बार फिर राजधानी में जिन्दगी पटरी पर लौटती नज़र आ रही है।

About Kanhaiya Krishna

Check Also

सर्व भारतीय हिन्दू बंगाली संगठन ने नव वर्ष मिलन समारोह का किया आयोजन

सर्व भारतीय हिन्दू बंगाली संगठन ने नव वर्ष मिलन समारोह का किया आयोजन

सर्व भारतीय हिन्दू बंगाली संगठन ने नव वर्ष मिलन समारोह का किया आयोजन कोषाध्यक्ष कल्याण …

Assam Rifles भर्ती के लिए जारी हुआ एडमिट कार्ड, ऐसे करे Assam Rifles Admit Card 2021 डाउनलोड

Assam Rifles भर्ती के लिए जारी हुआ एडमिट कार्ड, ऐसे करे Assam Rifles Admit Card 2021 डाउनलोड

Assam Rifles 2021 : इस भर्ती परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवारों को एडमिट …

Leave a Reply

Your email address will not be published.