'Freedom in begging' Kangana Ranaut once again made a controversial statement, received Padma Shri award on Monday itself
'Freedom in begging' Kangana Ranaut once again made a controversial statement, received Padma Shri award on Monday itself

‘भीख में मिली आज़ादी’ Kangana Ranaut ने एक बार फिर दिया विवादित बयान, सोमवार को ही मिला था पद्म श्री अवार्ड

Kangana Ranaut : दो दिन पहले ही मशहूर अभिनेत्री Kangana Ranaut को पद्मा श्री से सम्मानित किया गया था। पहले भी विवादास्पद बयान देती रहीं Kangana Ranaut अपने नये बयान से एक बार फिर विवाद खड़ा कर दिया है। बुधवार को ‘टाइम्स नाऊ’ चैनल पर एक इंटरव्यू कहा कि “भारत को ‘असली आजादी’ 2014 में मिली, जब नरेंद्र मोदी सरकार सत्ता में आई, वहीं 1947 में देश को जो स्वतंत्रता मिली थी वह ‘भीख’ में मिली थी।’ इस इंटरव्यू के वायरल होने के बाद भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी समेत कई नेताओं, सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं एवं अन्य लोगों ने बुधवार शाम को एक कार्यक्रम में दिये गये अभिनेत्री के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर Kangana Ranaut के बयान वाला वीडियो क्लिप भी साझा किया।

लोगों के चैनल के खिलाफ भड़कने पर चैनल को सामने आकर देनी पड़ी सफाई

Kangana Ranaut के ‘भीख में मिली आज़ादी’ वाले विवादित बयान को लेकर अब टाइम्स नाउ चैनल और नविका कुमार ( इंटर्व्युर ) भी सोशल मीडिया यूज़रों के निशाने पर हैं। नविका तो ट्विटर पर ट्रेंड कर रही हैं। इस बयान के बाद लोग इतना भड़क गए कि अब टाइम्स नाउ चैनल ने सफ़ाई दी है। चैनल ने साफ़ तौर पर Kangana Ranaut के बयान से खुद को अलग कर लिया है और कहा है कि नविका ने सवाल कुछ पूछा था और कंगना ने जवाब दूसरे मामले में दिया।

टाइम्स नाउ ने सफ़ाई में 5:10 मिनट की वीडियो क्लिप साझा करते हुए ट्वीट किया है, ‘पूछा गया सवाल सावरकर के बारे में था, लेकिन प्रतिक्रिया एक अलग मामले पर थी। इसके बाद नविका कुमार ने एक सवाल किया कि क्या कंगना भाजपा के प्रति अपनी वफादारी जता रही हैं, और Kangana Ranaut ने जवाब दिया कि वह एक देशभक्त हैं।

सावरकर पर सवाल का जवाब देते हुए कंगना देश की आज़ादी की बात करने लगती हैं। इसी बीच उन्होंने 1947 में देश को मिली आज़ादी को ‘भीख’ में मिली हुई आज़ादी बता दिया। उस क्लिप में Kangana Ranaut कहती हैं, ‘…और उन्होंने एक क़ीमत चुकाई… बिल्कुल वो आज़ादी नहीं थी, वो भीख थी। और जो आज़ादी मिली है वो 2014 में मिली है।’ कंगना के बयान पर उस कार्यक्रम में शामिल कुछ लोगों द्वारा तालियाँ बजाने की आवाज़ भी आती है। इस पर नविका कहती हैं ‘और इसीलिए आपको सब कहते हैं कि आप भगवा हैं?’

बीजेपी नेता वरुण गांधी ने भी Kangana Ranaut के लिए की कड़ी टिप्पणी

टाइम्स नाउ द्वारा साझा की गई उस वीडियो क्लिप का छोटा रूप वायरल हुआ और इसके लिए Kangana Ranaut की आलोचना की गई। बीजेपी नेता वरुण गांधी ने भी उनके लिए कड़ी टिप्पणी की है। उन्होंने Kangana Ranaut के बयान वाले वीडियो को साझा करते हुए लिखा कि कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार।
इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह? इसे ‘पागलपन कहा जाए या फिर देशद्रोह’?

 

About Sall Yadav

Check Also

Assam Rifles भर्ती के लिए जारी हुआ एडमिट कार्ड, ऐसे करे Assam Rifles Admit Card 2021 डाउनलोड

Assam Rifles भर्ती के लिए जारी हुआ एडमिट कार्ड, ऐसे करे Assam Rifles Admit Card 2021 डाउनलोड

Assam Rifles 2021 : इस भर्ती परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवारों को एडमिट …

10 interesting facts related to Maulana Abul Kalam Azad, why National Education Day is celebrated on 11th November

11 नवंबर को क्यों मनाया जाता है National Education Day , Maulana Abul Kalam Azad से जुडे 10 रोचक तथ्य

National Education Day 2021: भारत में हर साल 11 नवंबर को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National …

Leave a Reply

Your email address will not be published.