संसद भवन के समीप संदिग्ध स्थिति में घूमते पाए गए युवक से दिल्ली पुलिस की पूछताछ, कश्मीर से निकला लिंक

नई दिल्ली: एक दिन पहले बुधवार को संसद भवन (Parliament House) के पास घूमते पाए गए युवक से गुरुवार को भी दिल्ली पुलिस पूछताछ कर रही है। DCP डॉ. ईश सिंघल का कहना है कि पूछताछ अभी पूरी नहीं हो पाई है। वह सही-सही यह नहीं बता रहा है कि विजय चौक के पास क्यों घूम रहा था? उसके पहचान से जुड़े दो card बरामद हुए हैं। इन दोनों दस्तावेज में उसके नाम अलग-अलग हैं। पुलिस उसके स्थानीय थाना पुलिस से संपर्क कर सच्चाई का पता लगा रही है। उसके खिलाफ आपराधिक मुकदमा है अथवा नहीं? इसका भी पता लगा रही है। गौर करने योग्य है कि संसद भवन, विजय चौक के निकट संदिगध हालत में घूम रहे एक युवक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। युवक कश्मीर का रहने वाला है। उसे संसद भवन थाने में रखकर दिल्ली पुलिस समेत विभिन्न सुरक्षा एजेंसी पूछताछ कर रही है। युवक कश्मीर के बटगांव का रहने वाला है।

बुधवार सुबह 10 बजे संसद भवन के समीप संदिग्ध हालात में घूमने के दौरान वहां आसपास तैनात CRPF के जवानों ने जब उसे रोककर पूछताछ की तब उसने संतोषप्रद उत्तर नहीं दिया। शक होने पर CRPF ने उसे हिरासत में लेकर संसद मार्ग थाना पुलिस के हवाले कर दिया। उससे स्पेशल सेल व IB समेत कई सुरक्षा एजेंसियां देर रात तक पूछताछ में जुटी है। यहां पर बता दें कि अगले महीने संसद का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है, ऐसे में अभी से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। संसद के कुल मिलाकर 12 गेट हैं, जिसमें कुछ से आवाजाही होती है लेकिन कुछ बंद रखे जाते हैं। हालांकि सुरक्षा बंदोबस्त सभी पर होते हैं। आमतौर पर संसद परिसर में जिन गेटों से आवाजाही होती है, उसमें गेट पर सुरक्षा का जिम्मा CRPF और दिल्ली पुलिस का मिलाजुला होता है।

संपादक – सतीश भारतीय

About Kanhaiya Krishna

Check Also

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव

पाकिस्तानी आतंकी बाबर भाई मुठभेड़ में ढेर, 4 साल से था घाटी में एक्टिव जम्मू-कश्मीर …

करतारपुर कॉरिडोर

74 साल बाद करतारपुर कॉरिडोर के जरिए मिले दो भाई, बंटवारे ने किया था अलग

1947 में जब भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ तो मोहम्मद सिद्दीक नवजात थे। उनका …

Leave a Reply

Your email address will not be published.